नुक्ताचीनी का नया पता

घबराईये नहीं नुक्ताचीनी बंद नहीं हुई, बस अब नई जगह होती है ! नुक्ताचीनी का नया पता है http://nuktachini.debashish.com नुक्ताचीनी की फीड का पाठक बनने हेतु यहाँ क्लिक करें

Tuesday, April 27, 2004

नए पड़ाव

खुशी की बात है कि हिन्दी ब्लॉग के काफिले में नए राही जुड़ते जा रहे हैं। नवागंतुक वैभव पाण्डेय का स्वागत है। इस बीच नजर पड़ी ब्लॉगडिग्गर पर। जानकर अच्छा लगा कि यह कोई साधारण एग्रीगेटर नहीं वरन आपको चिट्ठों का समूह बनाने में भी मदद करता है। ऐसा समूह बनाने का एक लाभ यह हो सकता है कि एक जैसे चिट्ठे एक जगह जमा हो और उनके नवीनतम चिट्ठों के संक्षिप्त रुप एक ही पृष्ठ पर मिल जावें और सोने पर सुहागा हो अगर उनका एक ही संयुक्त आर.एस.एस फीड हो।

अतः देर न करते हुए मैंने हिन्दी चिट्ठों का एक समुह बना ही डाला। इस समुह का फीड URL है http://www.blogdigger.com/groups/rss.jsp?id=130 और सम्मिलित चिट्ठों की सूची ओ.पी.एम.एल प्रारूप में भी यहाँ उपलब्ध है। फिलहाल समूह के मुखपृष्ठ पर चिट्ठों के नाम सही तरीके से दिख नहीं रहे, मेरे ख्याल से अभी इस सेवा में सुधार की काफी गुंजाईश है। चुंकि यह अभी बीटा में ही है इसलिए थोड़ा और इंतजार करना चाहिए। वैसे ब्लॉगलाईन्स पर समूह की फीड बढिया दिख रही थी। उम्मीद की जाए कि मैं और ब्लॉगडिग्गर दोनों ही इन्हें ताजातरीन रख पायेंगे।

No comments: